कोविड के संकट में स्तनपान कितना जरूरी

महिला एवं बाल विकास विभाग, मध्यप्रदेश

मध्यप्रदेश शासन

download (1)

समेकित बाल विकास परियोजना

कोविड के संकट में स्तनपान कितना जरूरी ?

पिछले दिनों अखबार में आई एक तस्वीर पर यदि आपने गौर किया हो तो यह ममत्व की अदभुत मिसाल पेश करती है। इस तस्वीर में एक कोविड19 संक्रमित मां अपने नवजात शिशु को स्तनपान करवा रही है। इस मां और उसके परिवार ने समझा है कि एक नवजात शिशु के लिए आहार का एकमात्र सर्वश्रेष्ठ जरिया मां का दूध ही है और यदि इस अवस्था में उसे इससे वंचित किया गया, तो इसका दंश उसे जीवन भर झेलना पड़ेगा। इस परिवार ने बच्चे को जन्म से भुखमरी का शिकार नहीं बनाया। इस संकट के समय भी स्तनपान और शिशु के पोषण से संबंधित यह जागरुकता सालों की मेहनत का परिणाम है जिसके लिए सरकार, संस्थाएं और विभिन्न संगठन काम कर रहे हैं।

कोविड संक्रमण से जुड़े किसी भी अध्ययन में अब तक यह बात सामने नहीं आई है कि मां के दुग्धपान के जरिए संक्रमण शिशु तक पहुंच सकता है। सुरक्षित उपायों के साथ मां अपने नवजात शिशु को स्तनपान करवा सकती है। हालांकि इस बात के विस्तृत अध्ययन अभी चल ही रहे हैं, लेकिन इससे पहले हम समझ चुके हैं कि जन्म के पहले घंटे में मां का पहला गाढ़ा दूध शिशु के लिए प्रकृति का वरदान है। प्रकृति ने ही इस आहार को इतना समृदध बना दिया है जिससे छह महीने तक केवल मां का दूध शिशु के लिए संपूर्ण आहार होता है, यहां तक कि पानी पिलाने की जरूरत भी नहीं होती।

इस बात पर बहुत सारे सवाल हैं कि क्या प्रसव के तुरंत बाद एक संक्रमित मां नवजात को स्तनपान करवा सकती है। विश्व स्वास्थ्य संगठन की गाइडलाइन के मुताबिक इसमें कोई दिक्कत नहीं है। कंगारू मदर केयर को अपनाते हुए ऐसा करना शिशु के स्वास्थ्य के हित में है, हां इसमें मां को सावधानी जरूर रखने की सलाह दी जाती है, जैसे मास्क का इस्तेमाल, गर्म पानी की सहायता से अपने स्तन को साफ करना, बार—बार अपने हाथ धोना या अल्कोहल युक्त सेनेटाइजर से अपने हाथों को साफ करना, अपने आसपास को साफ रखना।

फिर भी स्तनपान कराने में सक्षम न हो तो मां का दूध उचित तरीके से निकालकर शिशु को पिलाना चाहिए, क्योंकि इस बात के अब तक कोई नतीजे नहीं मिले हैं कि मां के दूध में कोरोना वायरस का संक्रमण है। इसके लिए अस्पताल की नर्स या डॉक्टर मां की मदद कर सकते हैं, यहां यह समझना जरूरी है कि स्तनपान ही एक शिशु को जन्म भर के लिए मजबूत बनाता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *